बड़े घर की बेटी Pdf | Bade Ghar ki Beti Premchand pdf

बड़े घर की बेटी मुंशी प्रेमचंद जी के प्रमुख और प्रसिद्ध उपन्यासों में से एक है। मुंशी प्रेमचंद के उपन्यास कालजयी होते हैं जो उस समय की स्थिति के साथ ही आज के वर्तमान स्थिति में भी सटीक बैठते हैं।

 

 

 

Bade Ghar ki Beti

 

 

 

 

उस वक्त मेरी उम्र कोई 13 साल की रही होगी । हिन्दी बिलकुल नहीं जानता था । उर्दू के उपन्यास पढ़ने -लिखने का उन्माद था ।

 

 

 

 

मौलाना शरर , पंडित रतननाथ सरशार ,मिर्जा रुसवा , मौलवी मुहम्मद अली हरदोई निवासी, उस वक्त के सर्वप्रिय उपन्यासकार थे।

 

 

 

 

इनकी रचनाएँ जहाँ मिल जाती थीं , स्कूल की याद भूल जाती थी और पुस्तक समाप्त करके ही दम लेता था । उस ज़माने में रेनॉल्ड के उपन्यासों की धूम थी ।

 

 

 

 

उर्दू में उनके अनुवाद धड़ाधड़ निकल रहे थे और हाथों- हाथ बिकते थे। मैं भी उनका आशिक था । स्व . हज़रत रियाज़ ने , जो उर्दू के प्रसिद्ध कवि थे और जिनका हाल में देहान्त हुआ है, रेनॉल्ड की एक रचना का अनुवाद हरम सरा के नाम से किया था ।

 

 

 

 

उसी ज़माने में लखनऊ के साप्ताहिक अवध पंच के सम्पादक स्व . मौलाना सज्जाद हुसैन ने, जो हास्य रस के अमर कलाकार हैं , रेनॉल्ड के दूसरे उपन्यास का धोखा या तिलस्मी फानूस के नाम से अनुवाद किया था । ये सारी पुस्तकें मैंने उसी ज़माने में पढ़ीं और पं. रतननाथ सरशार से तो मुझे तृप्ति ही न होती थी । उनकी सारी रचनाएँ मैंने पढ़ डालीं । उन दिनों मेरे पिता गोरखपुर में रहते थे और मैं भी गोरखपुर ही के मिशन स्कूल में आठवीं में पढ़ रहा था , जो तीसरा दरजा कहलाता था ।

 

 

 

 

रेती पर बुद्धिलाल नाम का एक बुकसेलर रहता था । मैं उसकी दूकान पर जा बैठता था और उसके स्टॉक से उपन्यास ले- ले कर पढ़ता था ; मगर दूकान पर सारे दिन तो बैठ न सकता था , इसलिए मैं उसकी दूकान से अंग्रेज़ी पुस्तकों की कुंजियाँ और नोट्स ले कर अपने स्कूल के लड़कों के हाथ बेचा करता था और इसके मुआवज़े से दूकान से उपन्यास घर ला कर पढ़ता था ।

 

 

 

 

Bade Ghar ki Beti Premchand pdf

 

 

 

Download

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें।

 

 

 

Leave a Comment