बैंको का मायाजाल Pdf | Banko Ka Mayajal Pdf

मित्रों इस पोस्ट में हम आपको Banko Ka Mayajal Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Banko Ka Mayajal Pdf free download कर सकते हैं और आप यहां से Anushthan Prakash Pdf Hindi भी डाउनलोड कर सकते है।

 

 

 

Banko Ka Mayajal Pdf

 

 

 

 

 

 

 

हर मनुष्य, पशु, पक्षी, जीव, जंतु को पानी का महत्व ज्ञान है। मनुष्य तो सभी जीव धरियो में श्रेष्ठ प्राणी है। उसे तो पानी का महत्व भली-भांति ज्ञात है। चाहे वह पीने वाला पानी हो या मर्यादा वाला पानी मानव के जीवन में दोनों ही प्रकार के पानी का महत्व है। मनुष्य को छोड़कर अन्य प्राणी तो पीने के योग्य पानी से अपने प्राणो की रक्षा कर लेते है।

 

 

 

 

लेकिन मनुष्य के जीवन में एक अन्य पानी का भी बहुत महत्वपूर्ण स्थान है। उस प्रतिष्ठित पानी के अभाव में मनुष्य की मर्यादा भंग हो जाती है और वह उसकी रक्षा के लिए अपने प्राणो की आहुति तक दे सकता है। उस प्रतिष्ठित मर्यादित पानी की छोटी सी कहानी की झलक है।

 

 

 

 

दो मित्र थे। दोनों की समाज में प्रतिष्ठा थी। एक का नाम हेनरी था और दूसरे का नाम डेविड था। हेनरी समाज के सभी लोगो के बीच खूब इज्जत पाता था और डेविड भी लोगो का चहेता था।

 

 

 

 

दोनों के कारण अलग थे। हेनरी सभी के बीच खर्च करके अपनी प्रतिष्ठा अर्जित करता था और डेविड की इज्जत उसके घर के कारण से होती थी क्योंकि जो कोई भी किसी कार्य से डेविड के घर चला जाता था तो डेविड घर में रहे या नहीं आगंतुक की मान मर्यादा का डेविड के घर वाले सदैव ध्यान रखते थे।

 

 

 

 

लेकिन हेनरी के साथ ऐसा नहीं था। अगर हेनरी के नहीं रहने पर कोई उसके घर पहुंच जाता तब वहां आगंतुक के मान मर्यादा का पानी निचोड़ने में देर नहीं होती थी। इसी बात का दोनों मित्रो में अंतर था।

 

 

 

 

कई लोगो ने हेनरी से कह भी दिया था कि तुम्हारे में और डेविड में अंतर है और उसी अंतर को परखने के लिए एक दिन हेनरी बिना बताए ही डेविड के घर जा पहुंचा और अपनी पहचान भी गुप्त रखा था।

 

 

 

 

हेनरी जब डेविड के घर पहुंचा तो वहां उसका बहुत अच्छे से स्वागत हुआ इतना स्वागत कि उसकी मर्यादा का पानी और बढ़ गया।

 

 

 

एक दिन डेविड घूमते हुए हेनरी के घर जा पहुंचा। वहां तो हेनरी था ही नहीं जब तक डेविड के पानी को उतारने का प्रयास होता डेविड वहां से निकल चुका था।

 

 

 

 

रास्ते में हेनरी और डेविड की मुलाकात हो गई तब हेनरी ने झेंपते हुए क्षमा मांगा और कहा, “मैं अभी आपके घर से ही आ रहा हूँ। वास्तव में लोगो का कहना सही है आपके मर्यादा का पानी बहुत उत्तम है।”

 

 

 

 

Banko Ka Mayajal Pdf Download

 

 

 

 

Banko Ka Mayajal Pdf
Banko Ka Mayajal Pdf नीचे दी गयी लिंक से डाउनलोड करे।

 

 

 

पुस्तक का नाम  Banko Ka Mayajal Pdf
पुस्तक के लेखक  रवि कहोड़ 
भाषा  हिंदी 
साइज  22 Mb
पृष्ठ  99 
श्रेणी  बिजनेस

 

 

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

 

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Banko Ka Mayajal Pdf आपको कैसी लगी कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

2 thoughts on “बैंको का मायाजाल Pdf | Banko Ka Mayajal Pdf”

Leave a Comment