Bhaktamar Stotra Pdf Hindi / भक्तामर स्तोत्र Pdf

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Bhaktamar Stotra Pdf Hindi देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Bhaktamar Stotra Pdf Hindi Download कर सकते हैं और आप यहां से Shree Suktam Path in Hindi Pdf कर सकते हैं।

 

 

 

Bhaktamar Stotra Pdf Hindi Download

 

 

 

Bhaktamar Stotra Pdf Hindi
Bhaktamar Stotra Pdf Hindi यहां से डाउनलोड करे।

 

 

 

Bhaktamar Stotra Pdf Hindi
Hanuman Vadvanal Stotra Pdf यहां से डाउनलोड करे।

 

 

 

 

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें newsbyabhi247@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिये 

 

 

 

मिलन हारु द्वारा कही गयी बात का अर्थ समझने का प्रयास करने लगा। मिलन सोच रहा था अगर मैं सरोवर के स्वर्ण जल को सामान्य बना दूंगा तब वह सारी प्रियं उसमे स्नान क्यों करेंगी? लेकिन दूसरा उपाय यह हो सकता है जब रानी परी और सुमन परी दोनों सरोवर में स्नान करने के लिए जाए तब मैं अदृश्य रहकर उस सरोवर के स्वर्ण जल को सामान्य जल में बदलने का प्रयास करूँगा।

 

 

 

 

मेरे इस प्रयास से रानी परी और सुमन परी अपनी शक्ति से हीन हो जाएँगी तब मैं उनके सामने आकर अपने लाभ का प्रयास कर सकता हूँ। मिलन सोचने में इतना व्यस्त हो गया था कि उसे पता ही नहीं चला वह जिस टीले पर खड़ा है वह धीरे-धीरे नीचे खिसकता जा रहा है।

 

 

 

 

मिलन का ध्यान उस आवाज से भंग हो गया कोई भयानक आवाज में कह रहा था तुम यहां से बचकर नहीं जा सकते हो। यह झुमरू का इलाका है तुम्हे यहां झूमने पर मजबूर होना पड़ेगा। झूमरू एक विशाल आकृति का आदि मानव था। उसकी बात को सुनकर आज पहली बार मिलन क्रोध से भर गया।

 

 

 

 

वह सोचने लगा हमारे पास चार-चार शक्तियां है फिर भी मैं परेशानी में पड़ जाता हूँ क्यों? तब तक झुमरू ने अपने मंत्र का प्रयोग कर दिया। मिलन को हिचकी आने लगी वह झूमने लगा। मिलन हिचकी लेते हुए झूमते हुए बोला – कच्छप जी! आप इस झुमरू को भली प्रकार से दण्डित करो।

 

 

 

 

इतना सुनते ही वह पत्थर का कछुआ अपना आकार बढ़ाते हुए झुमरू नामक आदि मानव के ऊपर कूद पड़ा। झुमरू उस भारी कच्छप का भार नहीं संभाल पाया और नीचे की तरफ धंसने लगा। झुमरू के नीचे जाते ही एक बड़ी सी चट्टान उस रिक्त स्थान पर आ गयी।

 

 

 

 

कछुआ अपने सामान्य रूप में आ गया। उसके बाद मिलन अपनी शक्तियों के सहारे ऊपर आ गया। रात्रि हो गयी थी। चांदनी रात में भी वह स्वर्ण सरोवर स्पष्ट रूप से चमक रहा था। मिलन उस स्वर्ण सरोवर तक पहुँचने के लिए आतुर हो उठा था।

 

 

 

 

रात्रि के समय में भी अपनी यात्रा को जारी रखने का प्रयास कर रहा था। उसके सामने एक चमकीली और मखमली डगर थी। मिलन उसी डगर पर चलने लगा। तेजी से चलते हुए मिलन रास्ता समाप्त होने पर एक गहरी खाई में गिर पड़ा।

 

 

 

 

वास्तव में मिलन एक विशालकाय अजगर के ऊपर ही चल रहा था और रास्ता की समाप्ति अजगर के मुख में समा गया। मिलन को अपने चारो तरफ घना अंधकार दिखाई दे रहा था। वह दिव्य स्वर्ण अंगूठी से बोला – हे दिव्य स्वर्ण अंगूठी क्या हमे इस अंधकार में ही रहना पड़ेगा।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Bhaktamar Stotra Pdf Hindi आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और Bhaktamar Stotra Pdf Hindi की तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

Leave a Comment