Bharadwaj Samhita Pdf / भारद्वाज संहिता Pdf Download

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Bharadwaj Samhita Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Bharadwaj Samhita Pdf Download कर सकते हैं।

 

 

 

Bharadwaj Samhita Pdf / भारद्वाज संहिता पीडीएफ

 

 

 

पुस्तक का नाम  भारद्वाज संहिता
पुस्तक के लेखक  खेमराज श्रीकृष्णदास, सरयूप्रसाद मिश्र
श्रेणी  ज्योतिष, धार्मिक 
फॉर्मेट  Pdf
pdf साइज  14 MB
कुल पृष्ठ  222
पुस्तक की भाषा  संस्कृत 

 

 

भारद्वाज संहिता Pdf Download

 

गुरु गीता इन हिंदी पीडीएफ Download

 

 

 

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिए

 

 

 

 

समुद्र ने भयभीत होकर प्रभु के चरण पकड़कर कहा – हे नाथ! मेरे सब अवगुण को क्षमा कीजिए। हे नाथ! आकाश, वायु, जल और पृथ्वी इन सबकी करनी स्वभाव से ही जड़ है।

 

 

 

 

आपकी प्रेरणा से माया ने इन्हे शृष्टि के लिए उत्पन्न किया है। सब ग्रंथो ने यही गाया है। जिसके लिए स्वामी की जैसी आज्ञा है वह उसी प्रकार से रहने में सुख प्राप्त करता है।

 

 

 

 

प्रभु ने अच्छा किया जो मुझे शिक्षा दी किन्तु मर्यादा भी आपके द्वारा ही बनाया हुआ है। प्रभु के प्रताप से मैं सूख जाऊंगा और सेना पार उतर जाएगी इससे मेरी बड़ाई नहीं रहेगी। तथापि प्रभु की आज्ञा का उल्लंघन नहीं हो सकता है ऐसा वेद गाते है। अब आपको जो अच्छा लगे मैं तुरंत ही वही करूँ।

 

 

 

59- दोहा का अर्थ-

 

 

 

समुद्र के अत्यंत विनीत वचन सुनकर कृपालु श्री राम जी ने मुसकराकर कहा – हे तात! जिस प्रकार वानरों की सेना पार उतर जाय वह उपाय बताओ।

 

 

 

 

चौपाई का अर्थ-

 

 

 

 

समुद्र ने कहा – हे नाथ! नील और नल दो वानर भाई है। उन्होंने लड़कपन में ऋषि से आशीर्वाद प्राप्त किया था। उसके स्पर्श कर लेने से ही भारी-भारी पहाड़ भी आपके प्रताप से समुद्र पर तैर जायेंगे।

 

 

 

 

मैं भी प्रभु की प्रभुता को हृदय में धारण करके अपने बल के अनुसार सहायता करूँगा। हे नाथ! इस प्रकार समुद्र बँधाइये जिससे तीनो लोक में आपके सुंदर यश का गान हो।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Bharadwaj Samhita Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.