भाषा विज्ञान बुक Pdf | Bhasha Vigyan Pdf Book

अगर आप Bhasha Vigyan Pdf Book डाउनलोड करना चाहते हैं तो बिल्कुल सही जगह पर आप आये हैं, आप नीचे की लिंक से Bhasha Vigyan Pdf Book डाउनलोड कर सकते हैं और यहां से Dasakumaracharita Pdf Hindi कर सकते हैं।

 

 

 

 

 

 

Bhasha Vigyan Pdf Book Hindi

 

 

 

इस पुस्तक के बारे में——

 

 

 

इधर कुछ लोगो ने भाषाविज्ञान और भाषाशास्त्र में अंतर करते हुए आधुनिक भाषाविज्ञान के लिए भाषाशास्त्र नाम को उपयुक्त माना है। डा. उदयनारायण तिवारी लिखते है कि अमेरिका में फिलालोजी शब्द (भाषाविज्ञान) का व्यवहार प्राचीन भाषा तथा साहित्य एवं शिलालेखों की भाषा के अध्ययन के संदर्भ में किया जाता है।

 

 

 

दूसरे शब्दों में फिलालोजी के अंतर्गत प्राचीन भाषा सामाग्री का विश्लेषण किया जाता है और लिंग्विस्टिक्स (भाषाशास्त्र) के अंतर्गत आधुनिक जीवित भाषाओ एवं बोलियों का अध्ययन प्रस्तुत किया जाता है। इसके अंतर्गत केवल कथ्य भाषा की ही व्याख्या की जाती है।

 

 

 

साहित्य की लिखित भाषा सामाग्री की व्याख्या प्रस्तुत करना इस विषय की सीमा के बाहर है। दूसरे शब्दों में हम कह सकते है कि लिंग्विस्टिक्स भाषा के यथातथ्य के रूप का अध्ययन करता है आदर्श रूप का नहीं। इस संबंध में मुझे निम्लिखित बाते कहनी है।

 

 

 

यह बात अपने आप में अजीब सी लगती है कि पुरानी भाषा का अध्ययन विश्लेषण करना हो तो हम भाषा वैज्ञानिक अध्ययन कहे और आधुनिक भाषा अध्ययन का विश्लेषण करना हो तो भाषा शास्त्रीय अध्ययन कहे। अध्ययन विश्लेषण की किसी भी शाखा में इस प्रकार का अंतर बहुत सार्थक नहीं कहा जा सकता।

 

 

 

 

पुस्तक का नाम भाषा विज्ञान बुक Pdf
पुस्तक के लेखक भोलानाथ तिवारी
पेज 588
साइज 18.9 Mb
भाषा हिंदी

 

 

 

इस आर्टिकल में दिये गए किसी भी Pdf Book या Pdf File का इस वेबसाइट के ऑनर का अधिकार नहीं है। यह पाठको के सुविधा के लिये दी गयी है। अगर किसी को भी इस आर्टिकल के पीडीएफ फ़ाइल से कोई आपत्ति है तो इस मेल आईडी [email protected] पर मेल करें।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

यह पोस्ट Bhasha Vigyan Pdf Book आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

Leave a Comment