Brain rules book in Hindi Pdf / ब्रेन रूल्स बुक हिंदी Pdf

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Brain rules book in Hindi Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Brain rules book in Hindi Pdf Download कर सकते हैं और आप यहां से Anne Frank diary in Hindi Pdf कर सकते हैं।

 

 

 

Brain rules book in Hindi Pdf Download

 

 

 

Brain rules book in Hindi Pdf
Brain rules book in Hindi Pdf Download

 

 

 

brain rules - 12 principles for surviving and thriving - John Medina - www.indianpdf.com_ Download Book Novel
Brain rules book In English Download

 

 

 

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें newsbyabhi247@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिए

 

 

 

उसमे से ही प्रकाश निकल रहा था। वहां एकदम सन्नाटा फैला हुआ था। केवल दो चार पक्षियों की आवाज उस सन्नाटे को तोड़ने का प्रयास करती थी। अँधेरा बढ़ता जा रहा था। उस दरवाजे के पास रास्ता भी बंद हो गया था। मिलन बहुत उलझन में था कि अब क्या करू उसे क्षुधा सता रही थी।

 

 

 

 

अंगूठी से मिलन भोजन उपलब्ध कराने के लिए कहा – क्षण मात्र में भोजन उपलब्ध हो गया। मिलन की उदर पूर्ति हो गयी थी। श्रम के कारण मिलन को निद्रा की अनुभूति हो रही थी। उसने परमेश्वर को याद किया फिर निद्रा देवी के पास पहुँच गया।

 

 

 

 

चंदन की लकड़ी, स्वर्ण की अंगूठी, मत्स्य पत्थर और कछुआ के ऊपर मिलन की सुरक्षा की जिम्मेदारी थी। कुछ रात बीतने पर वहां विचित्र सी आवाजे आने शुरू हो गयी। चंदन की लकड़ी से अंगूठी बोली – क्या तुमको कुछ सुनाई पड़ रहा है?

 

 

 

 

चंदन की लकड़ी ने स्वर्ण अंगूठी से कहा – हां मुझे कई तरह की विचित्र आवाज सुनाई पड़ रही है। मत्स्य पत्थर बोला – मैं भी इन विचित्र आवाजों को सुन रहा हूँ। वह विचित्र आवाजे इधर समीप ही आ रही है हम सभी को तैयार रहना होगा।

 

 

 

 

कछुआ बोला – तुम सभी लोग मिलन की सुरक्षा में सावधानी रखना मैं उन विचित्र आवाज वालो को संभाल लूंगा। वह विचित्र आवाज वाले जीव दस-बारह की संख्या में थे। वह सभी चारो तरफ से मिलन को घेरकर खड़े हो गए थे। उनके सिर महिष के समान थे तथा पैर मनुष्यो की तरह थे।

 

 

 

 

उनके बोलने से प्रकाश उत्पन्न होता था।वह सभी आपस में बातें कर रहे थे कि इस मनुष्य को उठाकर अपने सरदार के पास ले जाना है। कछुआ उन सभी की बातो को  और समझ रहा था। कछुआ उन महिष मानव को उनकी विचित्र भाषा में ही जवाब देने लगा।

 

 

 

 

तुम लोग इस मनुष्य को ले जाने की कोशिस करके तो देखो। सभी महिष मानव कछुए की तरफ देखने लगे और हँसते हुए बोले – क्या तुम हमे इस मनुष्य को ले जाने से रोक सकते हो? कछुआ बोला – मैं तुम लोगो को रोकूंगा नहीं पर कोशिस अवश्य करूँगा।

 

 

 

 

वह सभी महिष मानव एक साथ मिलन को उठाने का प्रयास करने लगे। तीन शक्तियां मिलन की सुरक्षा में लगी हुई थी इस कारण से वह सभी महिष मानव मिलन को उठाने में असमर्थ हो रहे थे। कछुआ अपना आकार धीरे-धीरे बढ़ाने लगा। इस समय कछुआ अपने विशाल रूप में आ गया था।

 

 

 

 

सभी महिष मानव कछुआ के स्वरुप को देखकर अपना शरीर विशाल करने लगे परन्तु कछुआ विशालतम रूप धारण कर चुका था और बिना मौका गंवाए सभी महिष मानव को एक साथ ही उदरस्थ कर गया फिर कछुआ अपने सामान्य पत्थर स्वरुप में आ गया।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Brain rules book in Hindi Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और Brain rules book in Hindi Pdf Download की तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

Leave a Comment