गणेश पुराण Pdf | Ganesh Puran Pdf In Hindi Download

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Ganesh Puran Pdf In Hindi देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Ganesh Puran Pdf In Hindi Free Download कर सकते हैं और आप यहां से Nipun Bharat Mission Pdf Hindi डाउनलोड कर सकते है।

 

 

 

 

Ganesh Puran Pdf In Hindi

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Ganesh Puran Pdf

 

 

 

 

सूत जी बोले- हे शौनक जी! यह एक तथ्य भी है कि गणेश जी ही उसके पात्र भी है। वे बड़े देवता का भी कार्य सिद्धि में विघ्न उपस्थित होने पर उन विघ्नराज का आश्रय न लिया हो। हे शौनक! वे देव भी बड़े दयालु है। नाम तो शिव जी का ही आशुतोष है किन्तु वे सर्वात्मा और सर्वरक्षक प्रभु तो शिव जी की अपेक्षा भी शीघ्र ही प्रकट हो जाते है।

 

 

 

 

 

उनका भक्त कभी किसी संकट में नहीं पड़ता। यदि प्रारब्ध वशात कभी किसी विपत्ति में पड़ भी जाता है तो गणेश्वर की उपासना करने पर उनके अनुग्रह से उनके समस्त दुःख दूर होकर परम सुख की प्राप्ति होती है। शौनक ने कहा – हे सूत जी! हे महाभाग! हे प्रभो! मैं गणेश जी के विभिन्न चरित्रों का अध्ययन करना चाहता हूँ तो मुझे बताइये कि किस ग्रंथ का अवलोकन करू?

 

 

 

 

 

हे दयामय! आपको तो उनके समस्त चरित्र विदित है ही यदि आप ही उन्हें सुनाने की कृपा करे तो मेरा अत्यधिक उपकार होगा। सूत जी बोले – हे शौनक! भगवान गणेश्वर के इतने चरित्र है कि उन सबका कथन इस जिह्वा से संभव नहीं क्योंकि प्रभु अनंत प्रभु चरित अनंता वाली बात समस्त विद्वान ऋषि मुनि कहते है।

 

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

 

 

Ganesh Puran Pdf In Hindi

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Ganesh Puran Pdf In Hindi आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और इसे अपने मित्रों में शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment