हनुमान स्तुति pdf | Hanuman Stuti Pdf Download

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Hanuman Stuti देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से इसे डाउनलोड कर सकते हैं और यहां से Ek Mukhi Hanuman Kavach pdf डाउनलोड कर सकते हैं।

 

 

 

 

Hanuman Stuti Download

 

 

 

 

 

प्रनवऊं पवन कुमार खल बन पावक ग्यान घन।

जासु ह्रदय आगार बसहिं राम सर चाप धर ॥

अतुलित बलधामं हेमशैलाभदेहं, दनुजवनकृशानुं ज्ञानिनामअग्रगण्यम्।

सकलगुणनिधानं वानराणामधीशं, रघुपतिप्रियं भक्तं वातंजातं नमामि ॥

गोष्पदीकृत वारिशं मशकीकृत राक्षसम्।

रामायण महामालारत्नं वन्दे अनिलात्मजं ॥

अंजनानंदनंवीरं जानकीशोकनाशनं।

कपीशमक्षहन्तारं वन्दे लंकाभयंकरम् ॥

उलंघ्यसिन्धों: सलिलं सलीलं य: शोकवह्नींजनकात्मजाया:।

तादाय तैनेव ददाहलंका नमामि तं प्राञ्जलिंराञ्नेयम ॥

मनोजवं मारुततुल्यवेगं जितेन्द्रियं बुद्धिमतां वरिष्ठम्।

वातात्मजं वानरयूथमुख्यं श्रीरामदूतं शरणं प्रपद्ये ॥

आञ्जनेयमतिपाटलाननं काञ्चनाद्रिकमनीय विग्रहम्।

पारिजाततरूमूल वासिनं भावयामि पवमाननंदनम्॥ 

यत्र यत्र रघुनाथकीर्तनं तत्र तत्र कृत मस्तकाञ्जिंलम।

वाष्पवारिपरिपूर्णलोचनं मारुतिं नमत राक्षसान्तकम् ॥

 

 

 

Hanuman Stuti Pdf

 

 

 

 

Download

 

 

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Vedic Sukta Sangrah आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें।

 

 

 

Leave a Comment