एक प्रेम कहानी मेरी भी नावेल | 70 + Best Hindi Novels Pdf

मित्रों इस पोस्ट में हम आपको 70 + Hindi Novels Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Hindi Novels Pdf Free Download कर सकते हैं और यहां से The Secret Book in Hindi Pdf Download कर सकते हैं।

 

 

 

Best Hindi Novels Pdf

 

 

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें newsbyabhi247@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

Novel in Hindi Pdf Free Download

 

 

 

Surendra Mohan Pathak Ke Upanyas Pdf
बारह सवाल उपन्यास Pdf Download

 

 

 

 

Hindi Novels Surendra Mohan Pathak Pdf Download
Novel यहां से डाउनलोड करें 

 

 

 

लप्पूझन्ना नावेल Pdf By अशोक पांडेय Download Now
एक आगाज़ नितीश ओझा नॉवेल Download Now
7 किरदार नितीश ओझा नावेल Download Now
शर्ट का तीसरा बटन नावेल Download Now
शर्तें लागू  Download Now

 

 

 

 

 

Romantic novels in Hindi pdf Free Download

 

 

 

Hindi Novels Pdf
वापसी उपन्यास पीडीएफ डाउनलोड 

 

 

 

 

जुहू चौपाटी उपन्यास Pdf  Download Now
पीली छतरी वाली लड़की उपन्यास Download Now
लव स्टोरी उपन्यास Download Now
एक प्रेम कहानी मेरी भी Download Now
अनुपमा गांगुली का चौथा प्यार  Download Now
देवदास नॉवेल  Download Now
कुल्हड़ भर इश्क़ उपन्यास Download Now
पिंजर उपन्यास Download Now
अनकहे अहसास  Download Now
एक लड़की फूल एक लड़की कांटा  Download Now

 

 

 

 

Hindi Suspense Novel Pdf Download

 

 

 

अनदेखा खतरा सस्पेंस उपन्यास Pdf Download
अनदेखा खतरा सस्पेंस उपन्यास Pdf Download

 

 

 

तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल नावेल Pdf Download
तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल नावेल Pdf Download

 

 

 

 

मायावन एक रहस्यमय जंगल उपन्यास  Download Now
सबसे बड़ी मिस्ट्री उपन्यास  Download Now
शैतान नावेल  Download Now
दुल्हन मांगे दहेज़  Download Now
जलती चट्टान  Download Now

 

 

 

 

Hindi Novel Surendra Mohan Pathak Free Download Pdf

 

 

 

 

 

Surendra Mohan Pathak Ke Upanyas Pdf
बारह सवाल उपन्यास Pdf Download

 

 

 

Hindi Novels Surendra Mohan Pathak Pdf Download
Novel यहां से डाउनलोड करें 

 

 

 

मलिका का ताज उपन्यास Pdf Download  Download Now
निम्फोमैनियाक उपन्यास फ्री डाउनलोड  Download Now
खुनी घटना सुरेंद्र मोहन पाठक  Download Now
जीत सिंह – दस लाख सुरेंद्र मोहन पाठक नावेल  Download Now
लंबे हाथ Novel Pdf Download Download Now
बीवी का नशा सुरेंद्र मोहन पाठक नावेल  Download Now
मदारी उपन्यास डाउनलोड  Download Now
दस मिनट उपन्यास डाउनलोड  Download Now
नौकरी डॉट कॉम वेद प्रकाश शर्मा उपन्यास पीडीऍफ़  Download Now
पैंसठ लाख की डकैती सुरेंद्र मोहन पाठक  Download Now

 

 

 

 

मलया गिरि के वन में बहुत सारे जीव-जंतु रहते थे। वहां बहुत सारी चींटियों का समूह भी रहता था। चींटियों की रानी मीता का वहां रहने वाली काली कोयल बहुत मित्रता थी। वरसात का मौसम था। कई दिनों से जोरदार बारिस हो रही थी। मलया गिरि के वन में चारो तरफ पानी भर गया था।

 

 

 

सभी जीव-जंतु पशु-पक्षी प्रकृति के इस रौद्र रूप से परेशान हो गए थे। हर कोई अपनी जान बचाने में लगा हुआ था। चींटियों की रानी अपनी बिल मे बैठी परेशान हो रही थी। उसने सोचा क्यों नहीं घर के दरवाजे से झांक कर बरसात का आनंद लिया जाय।

 

 

 

वह जैसे ही बाहर जाने का प्रयास करने लगी सभी चींटियों ने उसे कहा रानी साहिबा! बाहर बहुत तेज बरसात हो रही है आप बाहर मत जाइये आपकी जान को खतरा हो सकता है। रानी चींटी मीता अपने साथियो से बोली मैं अपनी सुरक्षा के लिए चार और चींटियों को साथ ले जा रही हूँ।

 

 

 

इन सबके रहते मुझे कुछ नहीं होगा पर होनी को कैसे टाला जा सकता है? रानी चींटी मीता जैसे ही अपने दरवाजे पर अपने साथियो के साथ पहुंची वैसे ही पानी का एक बड़ा रेला आया रानी चींटी अपने दो साथियो के साथ पानी में बह गयी। उसके बचे हुए दो साथी वापस बिल में जाकर सबको सूचित कर दिए कि रानी चींटी अपनी दो साथियो के साथ बह गयी।

 

 

 

यह बात सुनकर चींटियों का समूह उदास हो गया लेकिन कोई उपाय न देखकर ईश्वर के ऊपर भरोसा करके बैठ गए। नीम की एक डाल पर काली कोयल जो चींटी रानी मीता की दोस्त थी यह सब देख रही थी। उसने बारिस में ही भींगते हुए एक सूखी टहनी तोड़कर अपने चोंच में लेकर उड़ते हुए रानी चींटी मीता और उसके दो सहयोगियों के पास जाकर उस सूखी टहनी को पानी गिराते हुए बोली।

 

 

 

रानी मीता! आप अपने दोनों सहयोगियों के साथ इस सूखी टहनी पर चढ़कर जान बचाने का प्रयास करो। पानी का वेग कम हो गया था। बरसात भी रुक गयी थी। रानी चींटी अपने सहयोगियों के साथ उस सूखी टहनी पर चढ़कर जान बचा लिया। उसने अपने मित्र काली कोयल को धन्यवाद दिया।

 

 

 

कुछ समय के बाद वह अपने दोनों सहयोगियों के साथ घर पहुँच गयी। सभी चींटियां रानी मीता और दोनों सहयोगियों को देखकर बहुत खुश हुई। समय का चक्र घूमता रहता है। कुछ समय बीतने पर जंगल में एक बहेलिया आया। उसने एक जगह जाल बिछाकर दाना डाल दिया।

 

 

 

काली कोयल को भूख लगी थी। उसने देखा कि दो-तीन पक्षी दाना चुग रहे है तो वह भी भूख से परेशान होने के कारण दाना चुगने के लिए जमीन पर उतर गयी और बहेलिया के द्वारा बिछाये गए जाल में फंस गयी। चींटी रानी मीता यह सब देख रही थी।

 

 

 

उसने अपने दोस्त काली कोयल को दाना चुगने से मना भी किया था लेकिन भूख से परेशान होने के कारण उसने मीता की बातों पर ध्यान नहीं दिया। बहेलिया ने खुश होकर जाल उठाया और जाने लगा। मीता ने अपने दोस्त को छुड़ाने का फैसला कर लिया।

 

 

 

फिर अपने कई साथियो को लेकर बहेलिया के पीछे लग गयी। एक स्थान पर पानी पीने की गरज से बहेलिया रुका और पक्षियों से भरे जाल को नीचे रखा ही था कि मीता उसके साथियो ने बहेलिया के हाथ और पैरो पर जोरदार हमला कर दिया।

 

 

 

चींटियों के इस अचानक हमले से परेशान होकर बहेलिया ने अपने हाथ पैर की जलन को शांत करने के लिए पानी में धोना शुरू कर दिया। पक्षियों ने मौके का फायदा उठाया और फड़फड़ाते हुए जाल से आजाद हो गए प्रकृति के द्वारा उपकार का बदला अवश्य मिलता है।

 

 

 

 

मित्रों यह Hindi Novels Pdf आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और Hindi Novels Pdf File Download की तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

Leave a Comment