माया तंत्र Pdf | Maya Tantra PDF In Hindi

नमस्कार दोस्तों, आज के पोस्ट में हम Maya Tantra PDF In Hindi के बारे में जानेंगे और आप Maya Tantra PDF In Hindi को नीचे दी गयी लिंक से DOWNLOAD कर सकते है साथ ही आप Kankal Malini Tantra Pdf को भी डाउनलोड कर सकते है।

 

 

 

Maya Tantra PDF

 

 

 

Maya Tantra PDF In Hindi

 

 

 

 

पुस्तक का नाम  माया तंत्र Pdf
भाषा  हिंदी 
साइज  131.2 Mb 
पृष्ठ  128
लेखक  डा रुपेश कुमार चौहान

 

 

 

 

 

 

 

तंत्रों के अनुसार प्रकृति और पुरुष दो अलग-अलग शक्तियां हैं, परन्तु मूल तत्त्व एक ही है। इनमें प्रकृति के पाँच कार्य हैं – सृष्टि, स्थिति, संहार, तिरोधान, अनुग्रह। तथा उसकी पाँच शक्तियाँ हैं – चित्‌ शक्ति, आनन्द शक्ति, इच्छाशक्ति, ज्ञानशक्ति, क्रियाशक्ति।

 

 

 

मनुष्य का शरीर एक ब्रह्माण्ड है। शरीर ही विश्व का रूप है। इसी प्रकार शिव, शक्ति, जीव एवं विश्व सभी एकात्मक हें। मुक्ति का अर्थ कुछ पाना नहीं है, प्रत्युत विस्मृत विराट्‌ की पुनः स्मृति ‘प्रत्यभिज्ञा’ है। ‘में शिव हूँ’ इसकी अभिव्यक्ति जीवन का परम लक्ष्य है।

 

 

 

योगपाद – आध्यात्मिक साधना के मार्ग में अग्रसर होने के लिये जिन आत्मिक शक्तिकेन्द्रों को जगाने की आवश्यकता होती है, वे शरीर में मेरुदण्ड के निम्नतम भाग से उच्चतम भाग तथा उससे भी ऊपर शून्य तक फैले हुए हैं। वे हैं – मूलाधार, स्वाधिष्ठान, मणिपुर, अनाहत, विशुद्ध आज्ञा, अर्धेन्दु रोधिनी, नाद, नादान्त शक्ति, व्यापिका, समना।

 

 

 

उन्मना और महाबिन्दु इसी मार्ग में जाग्रत्‌, स्वप्न, सुषुप्ति, तुरीय एवं तुरीयातीत रूपी चेतना के अनेकों पर्वतों को लांघना पड़ता है। तब महाबिन्दु तक पहुँचना होता हैं तथा इसके लिये षट्चक्र और ग्रंथित्रय का भी भेदन करना होता है। साथ ही कुण्डलिनी को भी जगाना पड़ता है। पूरी किताब पढ़ने के आप नीचे की लिंक से इसे डाउनलोड करे।

 

 

 

Maya Tantra PDF In Hindi Download

 

 

 

Maya Tantra PDF In Hindi

 

 

 

इस आर्टिकल में दिये गए किसी भी Pdf Book या Pdf File का इस वेबसाइट के ऑनर का अधिकार नहीं है। यह पाठको के सुविधा के लिये दी गयी है। अगर किसी को भी इस आर्टिकल के पीडीएफ फ़ाइल से कोई आपत्ति है तो इस मेल आईडी [email protected] पर मेल करें।

 

 

 

 

 

 

यह पोस्ट Maya Tantra PDF In Hindi आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment