सहज योग मंत्र | Sahaja yoga mantra book Hindi pdf

नमस्कार दोस्तों, आज के पोस्ट में हम Sahaja yoga mantra book Hindi pdf के बारे में जानेंगे और आप Sahaja yoga mantra book Hindi pdf को नीचे दी गयी लिंक से DOWNLOAD कर सकते है साथ ही आप Osho geeta darshan hindi pdf को भी डाउनलोड कर सकते है।

 

 

 

 

Sahaja yoga mantra book Hindi pdf

 

 

 

 

Sahaja yoga mantra book Hindi pdf

 

 

 

 

 

 

 

और जब जाग जाओ, तभी सुबह हैऔर जब तक सोये रहो, तब तक रात है। सोये को सदा रात है। रात्रि बाहर नहीं और न प्रभात बाहर है। सूरज तुम्हारे भीतर उगना है; तभी होगी वास्तविक सुबह। बाहर केसूरज उगतेहैं, डूबतेहैं; भीतर का सूरज उगा तो फिर डूबता नहीं।

 

 

 

 

जागो, मन जागरण की बेला! और जागरण की बेला हमेशा है। ऐसा कोई क्षण नहीं जब तुम जाग न सको। ऐसा कोई पल नहीं जब तुम पलक न खोल सको। आंख बंद किये हो, यह तुम्हारानिर्णय है। आंख खोलना चाहो, तो इसी क्षण क्रांन्ति घट सकती है।

 

 

 

 

और समस्तसिद्धों ने, समस्त बुद्धों ने बार-बार यही पुकारा है बार बार यही कहा है कक चाहो तो अभी जाग जाओ। ये स्वप्न तुम्हारे निर्मित हैं। ये चिंताएं तुमने ही फैला रखी हैं। यह नर्क तुमने ही बसा रखा है। तुम्हारे अतिरिक्त कोई और जिम्मेवार नहीं है।

 

 

 

 

कोई दूसरा तुम्हें जगा भी न सकेगा। कोई लाख उपाय करे, तुमने निर्णय किया हो न जागने का तो सब उपाय व्यर्थ चले जायेंगे। जैसे कभी तुम आंख बंद किये बैठे हो सूरज आ भी जाय तुम्हारी आंख पर भी सूरज की किरणें बरसने लगे तुम्हारी पलकों को पार करके भी किरण तुम्हारी आंख तक पहुंचने लगे

 

 

 

इसे Pdf File में Download करने के लिए नीचे की लिंक पर क्लिक करे।

 

 

 

Sahaja yoga mantra book Hindi pdf Download

 

 

 

 

इस आर्टिकल में दिये गए किसी भी Pdf Book या Pdf File का इस वेबसाइट के ऑनर का अधिकार नहीं है। यह पाठको के सुविधा के लिये दी गयी है। अगर किसी को भी इस आर्टिकल के पीडीएफ फ़ाइल से कोई आपत्ति है तो इस मेल आईडी [email protected] पर मेल करें।

 

 

 

Sahaja yoga mantra book Hindi pdf

 

 

 

यह पोस्ट Sahaja yoga mantra book Hindi pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment