स्वामी विवेकानंद के उपदेश Pdf | Swami Vivekanand Sermon PDF

मित्रों इस पोस्ट में Swami Vivekanand Sermon PDF दिया जा रहा है। आप नीचे की लिंक से Swami Vivekanand Sermon PDF Download कर सकते हैं और आप यहां से Bhagavad Aradhana Vidhi PDF In Hindi Download कर सकते हैं।

 

 

 

Swami Vivekanand Sermon PDF

 

 

 

 

 

 

 

 

जो सत्य है उसे साहसपूर्वक निर्भीक होकर लोगो से कहो उससे किसीको कष्ट होता है या नहीं इस ओर ध्यान मत दो। दुर्बलता को कभी प्रश्रय मत दो। सत्य की ज्योति बुद्धिमान मनुष्यो के लिए यदि अत्यधिक मात्रा में प्रखर प्रतीत होती है और उन्हें बहा ले जाती है तो ले जाने दो वे जितना शीघ्र बह जाए उतना अच्छा ही है।

 

 

 

 

तुम अपनी अंतःस्थ आत्मा को छोड़ किसी और के सामने सिर मत झुकाओ। जब तक तुम यह अनुभव नहीं करते कि तुम स्वयं देवो के देव हो तब तक तुम मुक्त नहीं हो सकते। ईश्वर ही ईश्वर उपलब्धि कर सकता है। सभी जीवंत ईश्वर है इस भाव से सबको देखो।

 

 

 

 

मनुष्य का अध्ययन करो मनुष्य ही जीवंत काव्य है। जगत में जितने ईसा या बुद्ध हुए है सभी हमारी ज्योति से ज्योतिष्मान है। इस ज्योति को छोड़ देने पर ये सब हमारे लिए और अधिक जीवित नहीं कर सकेंगे मर जायेंगे। तुम अपनी आत्मा के ऊपर स्थिर रहो।  बुक को Download करने के लिए नीचे दी गयी बटन पर क्लिक करे।

 

 

 

 

Swami Vivekanand Sermon PDF Download

 

 

 

 

पुस्तक का नाम स्वामी विवेकानंद के उपदेश Pdf
लेखक स्वामी विवेकानंद
साइज 1 Mb
पेज 13
भाषा हिंदी

 

 

 

 

Swami Vivekanand Sermon PDF

 

 

 

Note- हम कॉपीराइट का पूरा सम्मान करते हैं। इस वेबसाइट Pdf Books Hindi द्वारा दी जा रही बुक्स, नोवेल्स इंटरनेट से ली गयी है। अतः आपसे निवेदन है कि अगर किसी भी बुक्स, नावेल के अधिकार क्षेत्र से या अन्य किसी भी प्रकार की दिक्कत है तो आप हमें abhishekpandit8767@gmail.com पर सूचित करें। हम निश्चित ही उस बुक को हटा लेंगे।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Swami Vivekanand Sermon PDF आपको कैसी लगी जरूर बताएं और इस तरह की दूसरी पोस्ट के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें और फेसबुक पेज को लाइक भी करें, वहाँ आपको नयी बुक्स, नावेल, कॉमिक्स की जानकारी मिलती रहेगी।

 

 

 

Leave a Comment