विज्ञान भैरव Pdf | Vigyan Bhairav Tantra Hindi Pdf

मित्रों इस पोस्ट में हम आपको Vigyan Bhairav Tantra Hindi देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Vigyan Bhairav Tantra Hindi Pdf free download कर सकते हैं और आप यहां से Bhaktamar Stotra Pdf Hindi भी डाउनलोड कर सकते है।

 

 

 

 

Vigyan Bhairav Tantra Hindi Pdf

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

भगवान शिव ने उमा को विज्ञान भैरव तंत्र के विषय में बताया था। जो निम्न लिखित है।

 

 

१-हे शक्ति -सर्व शक्तिमान सत्ता में सब कुछ विलीन हो रहा है। प्रत्येक आभास सिमित है।

 

 

२-जानने के प्रारम्भ में ही अपनी सम्पूर्ण चेतना से कामना के वारे में जानो।

 

 

३-जब तक सम्पूर्ण आस्तित्व आत्मा से परिपूर्ण न हो जाय ,तब तक अपने भीतर -बाहर एक साथ आत्मा की कल्पना करो।

 

 

४-जो हर जगह व्याप्त है ,उस सर्वज्ञ को ही सर्व शक्तिमान और सर्व व्यापी जानो।

 

 

५-सर्व व्यापी आत्मा और तुम्हारा रूप दोनों ही चेतना से निर्मित हैं। सत्य और रूप अविभक्त हैं।

 

 

६-आत्म चिंता का त्याग करो ,और हर मनुष्य की चेतना को अपनी ही चेतना समझो ।

 

 

७- चेतना से ही स्वरूप प्राप्त होता है। चेतना के सिवा इस जगत में कुछ भी नहीं है। चेतना नहीं रहने पर सिर्फ जड़ता रह जाती है। चेतना का स्रोत (चैतन्य )को ढूंढो।

 

 

८-प्रत्येक की मार्ग दर्शक सिर्फ चेतना ही है ,अन्य कुछ भी नहीं।

 

 

९-चेतना के नहीं रहने पर कोई भी रूप एक रिक्त दीवार के आलावा कुछ भी नहीं है। चेतना से ही रिक्त स्थान भरा हुआ है।

 

 

१०- इस रिक्त ब्रह्माण्ड में तुम्हारा मन आदि अनंत रूप से कौतुक करता है अतः हे लीला मयी आप स्वतः ही लीला करो।

 

 

११-सब कुछ त्याग कर सिर्फ (तुम)बन जाओ जहाँ हे -प्रिये अस्तित्व और अज्ञान ,ज्ञान और अनस्तित्व के लिए कोई स्थान ही न रहे।

 

 

 

 

Vigyan Bhairav Tantra Hindi Download

 

 

 

 

 

पुस्तक का नाम  Vigyan Bhairav Tantra Hindi 
पुस्तक के लेखक  ओशो 
भाषा  हिंदी 
साइज  3.68 Mb 
पृष्ठ  309 

 

 

 

Vigyan Bhair Tantra Pdf
Vigyan Bhair Tantra Hindi Pdf भाग 1

 

 

Vigyan Bhair Tantra Pdf
Vigyan Bhair Tantra Hindi Pdf भाग 2

 

 

 

Vigyan Bhair Tantra Pdf
Vigyan Bhair Tantra Hindi Pdf भाग 3

 

 

 

Vigyan Bhair Tantra Pdf
Vigyan Bhair Tantra Hindi Pdf भाग 4

 

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Vigyan Bhairav Tantra Hindi आपको कैसी लगी कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

1 thought on “विज्ञान भैरव Pdf | Vigyan Bhairav Tantra Hindi Pdf”

Leave a Comment